Tagged: भारत

संयुक्त राष्ट्र महासभा की भूमिका

संयुक्त राष्ट्र महासभा प्रत्येक वर्ष विश्व नेताओं की एक बहुचर्चित बहस की मेजबानी करती है, लेकिन अपने कार्य को और अधिक वास्तविक बनाने के लिए संघर्ष करती रही है। 2020 में एक अभूतपूर्व सर्व-आभासी...

अंतरिक्ष में भारत की सैन्य निगरानी

अंग्रेजी संस्करण: https://thekootneeti.in/2021/08/31/indias-military-surveillance-in-space/ परिचय लोकप्रिय फिल्म श्रृंखला, स्टार वार्स, ने हमें सिखाया, ​​​​कि बहुत समय पहले एक आकाशगंगा में बहुत दूर, मनुष्य सत्ता, संसाधनों और संप्रभुता के मुद्दों पर संघर्ष के लिए तैयार हैं।...

24 सितंबर को क्‍वाड नेताओं का प्रथम व्यक्तिगत शिखर सम्मेलन: व्हाइट हाउस

व्हाइट हाउस ने सोमवार को घोषणा की है कि 24 सितंबर को प्रथम व्यक्तिगत क्‍वाड या भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के नेताओं का शिखर सम्मेलन वाशिंगटन में होगा। शिखर सम्मेलन सामूहिकता के लिए...

अफ़गानिस्तान से संचालित होने वाले आतंकी समूहों के खिलाफ भारत, रूस ने दी चेतावनी

अधिकारियों ने कहा कि भारत और रूस का मानना ​​है कि अफ़गानिस्तान से संचालित होने वाले विदेशी आतंकवादी समूह मध्य एशिया एवं भारत के लिए खतरा हैं। इस कारण वे बुधवार को राष्ट्रीय सुरक्षा...

रूस और कश्मीर में फैल रहा आतंक का खतरा: तालिबान के अधिग्रहण पर भारत में रूसी राजदूत

अफगानिस्तान पर तालिबान के नियंत्रण के मध्य, भारत में रूसी राजदूत निकोलाए कुदाशेव ने एक नई एजेंसी को बताया कि उनका देश “रूसी क्षेत्र और कश्मीर के क्षेत्र” में फैले आतंकवाद पर भारत के...

भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाया सीरिया में रासायनिक हथियारों के इस्‍तेमाल का मुद्दा

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि आतंकी संगठन और आतंकियों के पास रासायनिक हथियारों पहुंचने से सिर्फ भारत ही नहीं पूरे विश्व पर संकट के बादल मंडरा रहे...

भारत में गहराता जल संकट : एक समस्या

जल संकट की अहमियत जल की कमी भारत को निश्चित ही एक बड़ी समस्या की और आगाह कर रहा है क्योंकि 130 करोड़ जनसंख्या के साथ भारत दूसरे स्थान पर है और जल की...

भारत के परमाणु सम्पन्न देश होने के मायने

परमाणु कार्यक्रम की आधारशिला  11 से 13 मई 1998 भारत का वो स्मरणीय पल जिसपर हर भारतीय को गर्व है जब भारत ने 1974 के बाद वास्तविक रूप से परमाणु सम्पन्न देश होने का...

वो हाशिये से भी उठकर अब बाहर जा रहे हैं!

किसान के घर का अन्न से भर जाना और मजदूर को रोज काम मिलना, ये किसी भी काल में संभावित होना एक सपने सरीखा है| वैज्ञानिक दूरबीन एवं सहानुभूति के लेंस का समागम वर्तमान...