अमेरिका: ट्रंप ने 35 दिन के शटडाउन के बाद की समझौते की घोषणा

वाशिंगटन: 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 35 दिन से जारी शटडाउन के बाद समझौते की घोषणा कर दी है. डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने अमेरिकी सांसदों के साथ स्टॉप-गैप फंडिंग में तीन हफ्ते के लिए समझौता किया है, जो कि अपने 35वें दिन में आंशिक अमेरिकी सरकार के बंद को समाप्त कर देगा. इस संबंध में एक वरिष्ठ डेमोक्रेटिक सहयोगी ने कहा कि इस समझौते में राष्ट्रपति द्वारा बॉर्डर पर दीवार के लिए पैसे की मांग शामिल नहीं है.

कई राजनीतिक लड़ाइयों के बाद, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की सीमा की दीवार के पहले पूर्ण खंड का अनावरण हुआ है लेकिन लोग अभी भी इस बात पर बहस कर रहे हैं कि यह दीवार है या बाड़ है। फोटो: स्काई न्यूज़

ट्रम्प ने इससे पहले विशाल अमेरिकी-मैक्सिको बॉर्डर पर एक दीवार बनाने लिए भुगतान करने में मदद करने के लिए 5.7 बिलियन डॉलर के समावेश पर जोर दिया था. बता दें कि अगर सांसद दीवार फंडिंग के लिए तीन सप्ताह की बातचीत के बाद भी सहमत नहीं होते हैं, तो ट्रम्प ने संकेत दिया कि शटडाउन फिर से शुरू हो सकता है या वह फंडिंग के लिए राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा भी कर सकते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि बॉर्डर पर क्रंक्रीट की दीवार का निर्माण नहीं चाहते हैं, जो कि पूरी दक्षिणी सीमा पर बनी हुई है.

यह समझौता ट्रम्प और अमेरिकी कांग्रेस पर दवाब के बाद आया, जिससे कि अमेरिकी सरकार पूरी तरह से खुल सके और 800,000 संघीय कर्मचारी नौकरी पर वापस आ सकें. ट्रम्प ने कहा कि वह यह सुनिश्चित करने के लिए काम करेंगे कि सरकारी कर्मचारियों को जल्दी से उनका वर्क पे मिल सके. ट्रंप ने कहा, “मुझे आज यह घोषणा करते हुए बहुत गर्व हो रहा है कि हम शटडाउन को समाप्त करने और संघीय सरकार को फिर से खोलने के लिए एक समझौते पर पहुंच गए हैं”

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हमारे पास वास्तव में बॉर्डर पर कोई शक्तिशाली दीवार या स्टील बैरियर बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. यदि हमें कांग्रेस से उचित सौदा नहीं मिलता है, तो सरकार 15 फरवरी को फिर से शटडाउन हो जाएगी. ट्रम्प ने यह बातें व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में कहीं.

इस लेख में व्यक्त किए गए विचार और राय लेखक के हैं और जरूरी नहीं कि द कूटनीति टीम के विचारों को प्रतिबिंबित करें

द कूटनीति समूह

द कूटनीति अंतर्राष्ट्रीय संबंधों और कूटनीति पर भारत का एक बहुभाषी प्रकाशन है | हिंदी के अलावा हमारा प्रकाशन अंग्रेजी और स्पेनिश भाषा में है|

You may also like...

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *